50 घंटे में 350km दौड़! सेना में भर्ती होने के लिए एक युवा राजस्थान से दौड़ते हुए दिल्ली पहुंचा

मंजिल को पाने के लिए जोश और जुनून होना बहुत जरूरी है. सुरेश भिचर (Suresh Bhichar) में यह दोनों है. मगर वह जो चाह रहे हैं, वह पूरा नहीं हो पा रहा है. यह सिर्फ उनकी ही नहीं चाहत है, बल्कि देश के लाखों युवाओं के सपने हैं. राजस्थान जैसे राज्य के युवा हमेशा से देश की सेवा के लिए सेना में जाते रहे हैं. मगर पिछले 2 सालों से भर्ती नहीं हो रही है.

50 घंटे में 350km दौड़! सेना में भर्ती होने के लिए एक युवा राजस्थान से दौड़ते हुए दिल्ली पहुंचा
मंजिल को पाने के लिए जोश और जुनून होना बहुत जरूरी है. सुरेश भिचर (Suresh Bhichar) में यह दोनों है. मगर वह जो चाह रहे हैं, वह पूरा नहीं हो पा रहा है. यह सिर्फ उनकी ही नहीं चाहत है, बल्कि देश के लाखों युवाओं के सपने हैं. राजस्थान जैसे राज्य के युवा हमेशा से देश की सेवा के लिए सेना में जाते रहे हैं. मगर पिछले 2 सालों से भर्ती नहीं हो रही है.