138 करोड़ रुपये से ग्रेटर नोएडा को ऐसे मिलेगी जाम से मुक्ति, जानें प्लान

ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) को बसाने के दौरान ही यह ख्वाब देखा गया था कि नए शहर को ट्रैफिक जाम (Traffic Jam) से फ्री रखा जाएगा. लेकिन वक्त के साथ जैसे-जैसे शहर की आबादी बढ़ी तो सड़कों पर वाहनों की संख्या भी बढ़ गई. नतीजा यह निकला कि शहर के मुख्य चौराहे किसान चौक (Kisaan Chowk), परी चौक, एलजी चौक, पीथ्री चौक (P3 Chowk) और पर्थला गोलचक्कर ट्रैफिक जाम से घिर गए. इसी ट्रैफिक जाम से निजात दिलाने के लिए ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी (Greater Noida Authority) ने 138 करोड़ रुपये का बजट पास किया है.

138 करोड़ रुपये से ग्रेटर नोएडा को ऐसे मिलेगी जाम से मुक्ति, जानें प्लान
ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) को बसाने के दौरान ही यह ख्वाब देखा गया था कि नए शहर को ट्रैफिक जाम (Traffic Jam) से फ्री रखा जाएगा. लेकिन वक्त के साथ जैसे-जैसे शहर की आबादी बढ़ी तो सड़कों पर वाहनों की संख्या भी बढ़ गई. नतीजा यह निकला कि शहर के मुख्य चौराहे किसान चौक (Kisaan Chowk), परी चौक, एलजी चौक, पीथ्री चौक (P3 Chowk) और पर्थला गोलचक्कर ट्रैफिक जाम से घिर गए. इसी ट्रैफिक जाम से निजात दिलाने के लिए ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी (Greater Noida Authority) ने 138 करोड़ रुपये का बजट पास किया है.