पिता के सपने को पूरा करने का जज्बा, 2 बेटे निकले 250 ग्रामीणों को तीर्थयात्रा कराने हरिद्वार

Good News: बाड़मेर के दो भाइयों ने अपने पिता का सपना (Dream) पूरा करने के लिये अनूठा कदम उठाया है. इन दोनों भाइयों के पिता की इच्छा थी कि उनके गांव के लोगों को देवभूमि ऋषिकेश और हरिद्वार (Rishikesh and Haridwar) की तीर्थयात्रा करवायी जाये. पिता अपना सपना पूरा होने से पहले ही वो दुनिया से विदा हो गये. लेकिन उनके बेटों ने आज उस सपने को पूरा कर दिया है. वे अपने गांव समेत आसपास के गावों के 250 ग्रामीणों को तीर्थयात्रा पर लेकर निकले हैं. इस पूरी यात्रा का पूरा खर्चा दोनों भाई उठायेंगे.

पिता के सपने को पूरा करने का जज्बा, 2 बेटे निकले 250 ग्रामीणों को तीर्थयात्रा कराने हरिद्वार
Good News: बाड़मेर के दो भाइयों ने अपने पिता का सपना (Dream) पूरा करने के लिये अनूठा कदम उठाया है. इन दोनों भाइयों के पिता की इच्छा थी कि उनके गांव के लोगों को देवभूमि ऋषिकेश और हरिद्वार (Rishikesh and Haridwar) की तीर्थयात्रा करवायी जाये. पिता अपना सपना पूरा होने से पहले ही वो दुनिया से विदा हो गये. लेकिन उनके बेटों ने आज उस सपने को पूरा कर दिया है. वे अपने गांव समेत आसपास के गावों के 250 ग्रामीणों को तीर्थयात्रा पर लेकर निकले हैं. इस पूरी यात्रा का पूरा खर्चा दोनों भाई उठायेंगे.