डोर-टू-डोर डिलीवरी के लिए रेलवे और भारतीय डाक ने मिलाया हाथ, अब घर बैठे भेजें-पाएं अपना पार्सल

इस योजना के बारे में जानकारी रखने वाले अधिकारियों ने पहले बताया था कि प्रतिस्पर्धी दरों पर डिलीवरी सर्विस प्रदान करना जेपीपी का मकसद है, जिसकी लागत सड़क मार्ग से पार्सल डिलीवरी से काफी कम होगी.

डोर-टू-डोर डिलीवरी के लिए रेलवे और भारतीय डाक ने मिलाया हाथ, अब घर बैठे भेजें-पाएं अपना पार्सल
इस योजना के बारे में जानकारी रखने वाले अधिकारियों ने पहले बताया था कि प्रतिस्पर्धी दरों पर डिलीवरी सर्विस प्रदान करना जेपीपी का मकसद है, जिसकी लागत सड़क मार्ग से पार्सल डिलीवरी से काफी कम होगी.